दोस्त की माँ के साथ चुदाई 2021( Dost Ki Maa Ke Sath Chudai Sex Story Kahani )

Mom Porn Hindi Story Hindi Maa Ki Chudai Ki Kahani Story Sex – दोस्त की माँ के साथ चुदाई दोस्तों इस कहानी मे Dost Ki Maa Ke Sath Chudai Story पोस्ट की गयी है दोस्त की माँ के साथ सेक्स की कहानी पढ़िए और एन्जॉय कीजिये दोस्त की माँ के साथ चुदाई 2021( Dost Ki Maa Ke Sath Chudai Sex Story Kahani )

New 2021 Dost Ki Maa Ke Sath Chudai Sex Story Kahani

मैं जैसे ही लकी के घर में दाखिल हुआ Maine देखा की उसका घर पैसेदार लोगो के जैसा ही था. लकी को मैं तिन दिन पहले कंप्यूटर क्लास में मिला था. Meri तरह वो भी कोलेज के फर्स्ट इयर में फेल हुआ था और उसकी मम्मी मोना आंटी ने उसे टाइम बचाने के लिए कंप्यूटर क्लास ज्वाइन करवा दिए थे. आज Maine पहली बार उसकी माँ को देखा था; करीब 38 -42  की होंगी, चौड़ी छाती और सेक्सी Gaand. वैसे मैं आप लोगो को mere बारे में तो बताना ही भूल गया. मेरा नाम कवी सिंघल Hai और मैं 24  साल का हूँ, मुझे आंटी और भाभियों की चूत मारना बहुत ज्यादा ही पसंद है. सब से बड़ा फायदा आंटियो को रंडी बनाने में या उनके रंडी बन जाने में Hai क्यूंकि चूत की चूत मिलती Hai और पैसे का बोनस. Maine भी एक टाका भिड़ा के रखा था दो महीने पहले. केराला के एक अंकल की बीवी थी, उसकी काली चूत में जम के मारता था, शायद इसलिए ही मैं फ़ैल भी हुआ था. उस आंटी के रंडी बनने का बड़ा फायदा यह था की उसका पति बड़ी पहचान वाला था तो किसी ठोले ने रास्ते में पकड़ भी लिया तो आंटी के साथ मोबाइल पर बात करवा दो, काम हो जाता था.

लेकिन वो आंटी के पति का तबादला हो गया और मैं रंडी से रंडवा हो गया और मुझे अभी ऐसी ही आंटी की तलाश थी. मुझे सेक्स का कीड़ा लकी की माँ मोना में भी दिखा. Maine उसी शाम लकी से बात कर के पता लगाया की उसके पिताजी का देहांत कुछ 4 साल पहले हुआ था. इसका मतलब 4 साल के मोना आंटी की चूत तरसी हुई थी. मुझे लगा की यहाँ काँटा डाला तो बड़ी मछली फसेंगी. मोना आंटी एक Bank में काम करती थी और तगड़ी तनख्वाह लेती थी. मैं अगले दिन से लकी के घर ज्यादा से ज्यादा जाने लगा और आंटी को आँखों से ही चोदने लगा. आंटी लकी के होने के कारण शायद ज्यादा बात नहीं करती थी mere साथ. Maine एक दिन लकी को mere दोस्त अनवर के साथ बाजू वाले गाँव भेज दिया और खुद लकी के वहाँ चला गया. शाम का वक्त था मोना आंटी काम से आ गई थी. घर का नौकर थोड़ी देर पहले ही सब्जी लेने गया था. Maine आंटी से लकी के बारे में पूछा. मुझे पता था की वो घर नहीं Hai फिर भी. आंटी ने कहा की वो घर नहीं Hai. Maine कहा ठीक Hai आंटी में चलता हूँ. आंटी बोली अनिल आ तो सही, चाय शाय पी ले. Maine मनोमन सोच रहा था आंटी तेरे चुंचो का दूध पिला मुझे बस….!

मैं सोफे पे बैठा और आंटी फ्रेश होके किचन में चली गई. थोड़ी देर में वो दो बड़े कप ले के आई और हम चाय पिने लगे. वो अपने घर की और लकी के बारे में बताने लगी. साथ में वो यह भी कहने लगी की पति के ना होने ससे उसे कितनी मुश्किलें पड़ रही Hai वगेरह वगेरह. मैं तुरंत समझ गया की आंटी तवा गरम कर रही Hai. यह औरत जब किसी को रंडी बनाना चाहती Hai या उस से चुदना चाहती Hai तो पहले रोने धोने से ही चालू करती Hai सब कुछ. मोना आंटी ने जैसे अपने पत्ते फेंके Maine भी अपनी स्क्रिप्ट चालू कर दी. Maine भी कहा हां आंटी मैं समझता हूँ की एक जवान औरत को कितना दर्द होता है जब पति ना हो. (जवान कहो तो बूढी चूतें बहुत खुश हो जाती Hai.) आंटी Meri तरफ अब अलग नजर से देख रही थी. उसने अब धीरे धीरे बात के टोन के बदल के मुझ से पूछा, अनिल तेरी और लकी की गर्लफ्रेंड भी होगी ना. Maine कहा आंटी लकी का पता नहीं Hai मुझे लेकिन Meri एक आंटी Hai फ्रेंड. मोना आंटी हंस पड़ी और बोली, क्या आंटी. Maine कहा, हाँ और Maine उस रंडी आंटी के साथ सेक्स के अलावा सारी बाते मोना आंटी को बता दी. मोना आंटी हंसी और बोली, इसमें उस आंटी को क्या मिलता Hai. Maine हंस के कहा, जो उसे अपने पति से नहीं मिलता Hai.

सेक्सी आंटी की चुदाई कर उसे रंडी बनाया

मोना आंटी बोली, तू तो बदमाश लड़का Hai रे अनिल. क्या तू इस आंटी से सेक्स भी करता Hai. बीन्नो आंटी के मुहं से सेक्स सुन के मैं थोडा चमक सा गया, लेकिन फिर Maine अपने और रंडी आंटी के किस्से बढ़ा चढ़ा के मोना आंटी को बताये. जिस में Maine सेक्स के बारे में भी जिक्र किया था. मुझे पता था की इस से मोना आंटी की चूत में पसिना जरुर छूटेगा. वो थोड़ी हिल रही थी और Maine देखा की उसके गाउन के अंदर उसके चुंचे भी कडक होने लगे थे. Maine मोना आंटी की बेताबी को भांप लिया और Maine अब रंडी आंटी के साथ हुई मुलाक़ात और पहले सेक्स की बात सिंगल X ब्ल्यू फिल्म की स्क्रिप्ट के जैसे आंटी को बताई. तभी मोना आंटी उठी और किचन में गई कप रखने के लिए. मुझे पता नहीं क्या हुआ मैं भी उसके पीछे चला गया. आंटी किचन के प्लेटफोर्म तरफ खड़ी हुई थी. उसकी चौड़ी सेक्सी Gaand भूरे गाउन में सेक्सी लग रही थी. Maine हाथ धोने के बहाने अपने लंड को आंटी के Gaand से घिस दिया. Maine हाथ धोए और देखा की आंटी चौंकी सी Hai. Maine वापस जाने के वक्त वापस लंड को Gaand से घिसा. अब आंटी से बिलकुल भी रहा नहीं गया और उसने पलट के मुझे बाहों में ले लिया. Maine भी कस के उसे अपनी बाहों में दबोच लिया. आंटी के हाथ Meri कमर को सहला रहे थे.

Mona Aunty Ke Sath Chudai Ki Shuruwaat

Maine एक हाथ उसकी Gaand पे रखा और दुसरे हाथ से मैं उसके चुंचे दबाने लगा. आंटी बेतहाशा गर्म हो चुकी थी. उसने अपने होंठ mere होंठ पे दे दिए और किस देने लगी. Maine गाउन के ऊपर से ही आंटी के दो कुलहो के बिच की दरार पर हाथ फेरा. दूसरा हाथ भी आंटी के बड़े चुंचे मसल रहा था. तभी आंटी ने mere लंड के उपर हाथ रख दिया. जींस की पेंट के अंदर भी मेरा लंड जबरदस्त तन के बैठा था.. किचन के अंदर ही Maine आंटी के गाउन को उठाना चाहा, लेकिन आंटी ने मेरा हाथ पकड़ लिया. वो बोली, अरे लकी आ जाएगा. Maine कहा, आंटी घबराओ मत सब रास्ता कर के आया हूँ, लकी दो घंटे से पहले नहीं आएगा. आप नौकर को कुछ काम बता दो एक घंटे का. आंटी ने Meri तरफ देखा और बोला, अच्छा तो तू मुझे रंडी बनाने के पुरे प्लान के साथ आया था; मान गई अनिल तू बड़ा आंटीचोद Hai.

आंटी ने पर्स से मोबाइल निकाल के नौकर को फुल बाजार से कुछ फुल भी लाने को बोला. फुल बाजार सब्जी की मार्केट से 3 किलोमीटर दूर था इसलिए बेचारा 1 घंटा तो उलझा ही रहेगा वो. आंटी ने बिना ताकीद के अपने गाउन को अपने हाथ से उतारा और अब वो mere सामने काली ब्रा और पेंटी में सज्ज कड़ी थी. Maine हाथ से आंटी के चूंचे फिर से दबाये. आंटी बोली, अनिल सालो से लंड देखने को तरस गई हूँ. अब और na तडपाओ मुझे. Maine जींस की ज़िप खोली और अपने लौड़े को बहार निकाला. आंटी ने जैसे की सोने का लंड देखा हो वैसे उसकी आँखे खुश हो गई. वो निचे बैठी और बच्चा खिलौना खेलता Hai वैसे लंडको छूने और चूमने लगी. वो अपने होंठो से लंड के उपर मस्त किस देती थी और साथ ही मुझे अपनी तरफ खिंच रही थी. Maine घुटनों तक उतारी हुई पेंट को पूरी उतार दिया और मैं किचन के प्लेटफोर्म से लग के खड़ा हो गया. आंटी ने थूंक हाथ में ले के लौड़े को मस्त हिलाना चालू कर दिया. यह आंटी भी उस रंडी आंटी के जैसे ही लंड की दीवानी लग रही थी. रंडी आंटी तो मेरा लंड पार्क, पार्किंग और थियेटर जैसे अलग अलग जगह चूस चुकी थी. मोना आंटी ने अब अपना मुहं खोला और जैसे की गुलाब जामुन मुहं में भर रही हो वैसे लौड़े के सुपाड़े को खा लिया. आह आह mere मुहं से सुख के उदगार निकल पड़े. देखते ही देखते आंटी ने पुरे लंड को मुहं में भर लिया और जन्म जन्म की प्यास बूझा रही हो वैसे पुरे लंड को गले तक चूसने लगी. Maine उसके माथे की पीछे से पकड़ा और अपनी तरफ खिंचा. आंटी ने लौड़े के उपर दांतों से चूसन दिया. मुझे उसके दांत अपने लंड पे अहेसास दे रहे थे लेकिन उसका अपना ही मजा था. Maine अपनी जांघो के झटके मारने चालू किये और आंटी के गले को चोदने लगा. आंटी भी पुरे मुकाबले से लंड का सामना करने लगी. 10 मिनिट तक Maine ऐसे ही आंटी के मुहं को चोदा और सारा के सारा माल आंटी के मुहं में निकाल दिया. आंटी ने किचन के बेसिन में वीर्य निकाला और पानी से कुल्ली कर ली. अब वो मेरा हाथ पकड़ के बेडरूम की तरफ ले आई. तब हम दोनों बिलकुल नंगे थे.

लंड चुसाने के बाद आंटी की चूत मारी

आंटी ने मुझे बेड पे बिठाया और अलमारी से एक डिल्डो निकाल के ले आई. उसने मुझे डिल्डो दिया और बोली, तेरा लंड खड़ा होता Hai तब तक तू Meri चूत और Gaand को खुश कर दे. आंटी कुतिया की तरह टाँगे उठा के बेड पे लेट गई. उसके चुतड वाला भाग उसने ऊँचा कर के रखा हुआ था. Maine आंटी की चूत को खोला और डिल्डो अंदर दे दिया. मैं जोर जोर से हाथ चला रहा था और आंटी की चूत को डिल्डो से चोद रहा था. Maine दुसरे हाथ की ऊँगली में थूंक लगाया और आंटी की काली Gaand के छेद पे ऊँगली रखी. अंदर थोडा झटका दिया था की अंदर ऊँगली धंस गई. मैं अब आंटी की चूत को डिल्डो से चोद रहा था और उसकी Gaand में ऊँगली दे रहा था. आंटी की बेताबी देख के मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और चूत और Gaand को सलामी देने लगा. Maine खड़े हो के डिल्डो को निकाला और खुद अपने लौड़े को आंटी की चूत के होंठो पे घिसने लगा. आंटी की आँखे बंध हो गई और वो आह आह की आवाजे निकालने लगी. Maine आंटी की चूत में पुरे का पूरा लंड एक ही झटके में घुसा दिया. आंटी ने अपने कुलहो को दोनों हाथो से खोला और लंड के पेनेट्रेशन को और भी डीप बनाया. सच में आंटी की चूत में Meri रंडी बनने की अजब खुमारी चढ़ी थी. Maine भी अपने गधे छाप लंड को अंदर तह तक घुसा दिया और जोर जोर से आंटी को चोदने लगा. आंटी की Gaand के उपर में जोर जोर से चमाट लगाने लगा. आंटी के मुहं से अजब अजब आवाजे निकल रही थी. वो बोल रही थी, चोद दे अपनी मोना रानी को अबे ओ अनिल आंटीचोद, मैं भी तेरी रंडी बनूँगी, बना ले मुझे अपनी रंडी और चोद दे अपनी इस रंडी को तेरे लंड से.

मैं आंटी को और भी जोर जोर से चमाट मारने लगा और आंटी भी सामने उतनी जोर से Gaand हिला हिला के चुदवाने लगी. इस मस्ती मस्ती में 20 मिनिट की चुदाई हो गई और पता भी नहीं चला. मेरा लंड एक बार फिर से खाली होने की कगार पे था. Maine आंटी के कुल्हे फाड़े और लंड और जोर से अंदर बाहर करने लगा. आंटी अब भी Meri रंडी बनने की मांग के साथ Gaand हिलाते जा रही थी. जैसे ही मेरा माल निकलने वाला था Maine लंड को निकाल के आंटी की Gaand के छेद पे उसका रस निकाला. आंटी को अभी भी शान्ति नहीं मिली थी इसलिए Maine अपना वीर्य से लिपटा वीर्य उसके Gaand के छेद के उपर रगड़ा. आंटी आह आह ओह ओह करते हुए लेट गई. 10 मिनिट के बाद वो उठी और किचन में जाके गाउन पहनने लगी. वो Meri जींस और शर्ट भी ले आई. उसने मुझे कपडे दिए और बोली, अनिल जल्दी कपडे पहन लो बनवारी (उसका नौकर) आता ही होगा. Maine कहा, आंटी मजा आया की नहीं Meri रंडी बनके. आंटी मुस्कुराते हुए बोली, अभी रंडी बनी कहा हूँ, अगले हफ्ते बनवारी को दो दिन की छुट्टी दे दूंगी और लकी को मामा के वहाँ कुछ काम से भेजूंगी. तब तू आना 48 घंटे के लिए mere घर पे फिर कम से कम एक दर्जन बार चुदाई करुँगी तेरे साथ. उस दिन के बाद Maine तेरी रंडी बनूँगी….!

dost ki maa ki chudai ki kahani, dost ki maa ki chudai ki Story

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *