भाभी की बिल और मेरा साँप – Bhabhi Ke Sath Sex Ki Ek Jabardast Kahani

Bhabhi Ke Sath Sex Ki Kahani – दोस्तों आज की Hindi Sex story की कहानी मे हम आपके लिए Kavita Bhabhi Sex Story In Hindi लेकर आये है bhabhi ke sath chudai ki kahani पढ़िए और एन्जॉय कीजिये|

Rukmani Bhabhi Ke Sath Ki Gayi Chudai Ki Kahani

दोस्तों, मेरा नाम महेश hai main नॉएडा का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 24 साल hai मेरे परिवार main पापा मम्मी और hum दो भाई रहते hai, मेरे पापा मम्मी और मेरा भाई गाँव main रहते hai और main अकेला दिल्ली main अपना बिजनेस करता हूँ main दिल्ली main जहाँ पर रहता हूँ वहां पर नीचे वाली मंजिल पर मेरे दूर के रिश्तेदारी main मेरे एक भैया और Bhabhi रहते hai उन दोनों की शादी को पूरा एक साल हो चुका hai, लेकिन अभी तक उनके कोई बच्चा नहीं hai मेरे भैया एक प्राइवेट कंपनी main अच्छी पोस्ट पर नौकरी करते hai मेरी Bhabhi का नाम रुकमनी hai और वो बहुत ही सुंदर hai उनको देखकर हर बार मेरा लंड खड़ा हो जाता hai, क्योंकि वो बहुत ही सेक्सी hai और वो क्या मस्त लावजवाब दिखती hai? और उनके बूब्स बड़े आकार के hai जिसका आकार 40-36-42 hai वो मुझे बहुत ही अच्छी लगती hai इसलिए मेरी बस एक ही इच्छा थी कि main कैसे भी उनकी पूरी रात जमकर बहुत मस्त Chudai करूं और उनके साथ बड़े मज़े करूं, लेकिन मेरे हाथ ऐसा कोई भी मौका नहीं लग रहा था दोस्तों मेरे भैया की Bhabhi से बहुत अच्छी जमती थी, इसलिए वो दोनों बहुत खुश रहते थे और main कभी कभी Bhabhi से मज़ाक भी कर लिया करता था तो Bhabhi भी हंसकर मुझसे मज़ाक कर लिया करती थी, इसलिए Bhabhi की Chudai करने का ख्याल मेरे दिल main हमेशा आया करता था अब तो मेरी हमेशा बस यही कोशिश रहती थी कि main कैसे अपने इस सपने को पूरा करूं main यही बातें सोचता रहता था

फिर शायद भगवान को भी कुछ दिनों बाद मुझ पर तरस आ ही गया उस समय भैया को अपनी कंपनी के किसी जरूरी काम से दस दिनों के लिए इंदौर जाना पड़ा और Bhabhi वो बात सुनकर बहुत ही उदास थी, क्योंकि भैया ने पिछले एक साल के इस समय main Bhabhi को कभी भी अकेला नहीं छोड़ा था और फिर भैया ने Bhabhi को कहा कि अगर तुम्हे किसी भी चीज की कोई ज़रूरत हो तो तुम रोहित को बुला लेना और उन्होंने मुझसे कहा कि तुम अपनी Bhabhi का पूरा ख़याल रखना और hum दोनों से यह बात कहकर वो दूसरे दिन सुबह की पहली फ्लाइट से ही इंदौर के लिए चले गये

Bhabhi Ke Sath Sex Ki Ek Story In Hindi

फिर main मन ही मन बहुत ही खुश था कि चलो शायद मुझे कोई अच्छा मौका मिल जाए main सुबह दस बजे Bhabhi के पास चला गया और मैंने उनसे कहा कि Bhabhi आपको कोई काम हो तो मुझे बता दो main वापस आते समय कर दूंगा तो Bhabhi ने हल्के से मुस्कुराकर कहा कि कोई काम नहीं hai, लेकिन अगर जब मुझे तुमसे कोई काम होगा तब main तुम्हे वो जरुर बता दूंगी फिर मैंने उनसे कहा कि हाँ ठीक hai Bhabhi और main अपने काम पर चला गया, लेकिन वहां पर किसी भी काम main मेरा बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था मुझे तो हर तरफ सिर्फ़ रुकमनी Bhabhi ही नज़र आ रही थी main शाम को जल्दी घर आ गया और Bhabhi के पास चला गया फिर Bhabhi ने मुझसे पूछा कि तुम आज इतनी जल्दी कैसे आ गए? मैंने उनसे कहा कि Bhabhi आज मेरी तबीयत कुछ ठीक नहीं लग रही थी, इसलिए main जल्दी घर चला आया फिर उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या हुआ? तो मैंने उनसे कहा कि मेरे सर main दर्द hai तो Bhabhi ने कहा कि main दबा देती हूँ अब मैंने कहा कि नहीं Bhabhi अपने आप ठीक हो जाएगा, लेकिन Bhabhi नहीं मानी और वो मेरा सर दबाने लगी दोस्तों उनके नरम मुलायम हाथ मेरे माथे पर छूते ही मेरे पूरे जिस्म main एक अजीब सी सनसनी होने लगी और main मदहोश होता जा रहा था मैंने किसी तरह अपने पर कंट्रोल किया और अपने घर आ गया फिर रात को Bhabhi मेरे पास आ गई और उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हे खाना मेरे साथ ही खाना hai दोस्तों अंधे को क्या चाहिए दो आखें जो मुझे भगवान खुद दे रहे थे, इसलिए मैंने मन ही मन बहुत खुश होकर कहा कि हाँ ठीक hai Bhabhi , आप चलो main अभी आता हूँ और फिर main मुहं हाथ धोकर Bhabhi के यहाँ पर चला गया और तब मैंने देखा कि Bhabhi उस समय किचन main थी और वो खाना परोसने की तैयारी कर रही थी फिर मैंने कहा कि main आ गया हूँ तो उन्होंने मेरी तरफ मुस्कुराकर मुझे बैठने का इशारा करके वो मेरे लिए भी खाना लगाने लगी और फिर hum दोनों ने एक साथ main खाना खाया फिर उसके बाद hum दोनों इधर उधर की बातें करने लगे थे तभी Bhabhi ने अचानक मुझसे पूछा कि रोहित क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड hai? तो main उनकी इस बात को सुनकर थोड़ा सा चकित जरुर हुआ, लेकिन मैंने उस पर इतना ध्यान नहीं दिया और मैंने उनसे कहा कि नहीं Bhabhi मुझे अपने काम से ही समय नहीं मिलता तो मेरी कोई गर्लफ्रेंड कहाँ से होगी? तो Bhabhi मेरे मुहं से यह बात सुनकर हंसने लगी और वो मुझे एक मादक मुस्कान देकर उठकर दोबारा किचन main चली गई अब main अपने लंड से बड़ा परेशान था, क्योंकि वो अब पूरा तनकर खड़ा हो चुका था और उसने सांप की तरह फुकार मारना भी शुरू कर दिया था अब मैंने किचन main जाकर Bhabhi को बोला कि Bhabhi main अब सोने जा रहा हूँ आपको मुझसे कोई काम हो तो आप मुझे बता दो फिर Bhabhi ने मुझसे कहा कि मुझे कोई भी काम नहीं hai, तुम जाकर सो जाओ और फिर main अपने घर पर जाकर Bhabhi के नाम से मुठ मारकर सो गया

भाभी को साडी बदलते देखा

फिर दूसरे दिन सुबह मैंने Bhabhi से पूछा कि Bhabhi आपको कुछ काम हो तो बता दो, main जा रहा हूँ, Bhabhi ने कहा अभी तो मुझे कुछ नहीं hai, लेकिन आज शाम को तुम जल्दी आ सकते हो तो आ जाना, क्योंकि मुझे बाजार जाना hai अब मैंने उनसे कहा कि हाँ ठीक hai, main आ जाऊंगा और फिर main अपने काम पर चला गया दो दिनों से मेरा किसी भी काम main मन ही नहीं लग रहा था मुझे बार बार Bhabhi का ही ख्याल आ रहा था, क्योंकि Bhabhi थी ही ऐसी चीज़ जो किसी को भी पागल कर सकती hai फिर main शाम को जल्दी अपने घर आ गया और फ्रेश होकर main Bhabhi के पास जा पहुंचा Bhabhi ने मुझसे पूछा कि तुम कब आए? तो मैंने कहा कि main अभी ही आया हूँ क्यों आपको बाजार जाना hai ना? तो Bhabhi ने कहा कि हाँ बस आप 15 मिनट बैठो main अभी तैयार होकर आती हूँ फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक hai और फिर Bhabhi तैयार होने दूसरे कमरे main चली गये main भी उठकर Bhabhi के कमरे के अंदर झांकने की कोशिश करने लगा दरवाजे के छेद से मैंने Bhabhi को उनकी साड़ी उतारते हुए देखा और उसके बाद Bhabhi ने अपना ब्लाउज उतार दिया दोस्तों वो क्या मस्त द्रश्य था,

main आप लोगो को किसी भी शब्दों main बता नहीं सकता कि Bhabhi के बड़े बड़े बूब्स उनकी ब्रा main केद होकर ऐसे लग रहे थे कि अभी वो उनकी उस ब्रा को फाड़कर बाहर आ जायेंगे उनको Bhabhi ने जबरदस्ती उसमे ठूंस रखा था, जिसको देखकर मेरा लंड खड़ा होने लगा था अब मेरा मन तो कर रहा था कि main अभी जाकर Bhabhi को अपनी बाहों main ले लूँ और उनको चूम लूँ उनके बूब्स के साथ खेलूं, लेकिन main मजबूर था फिर Bhabhi ने नीले रंग का ब्लाउज पहना और उसी रंग की साड़ी पहनी वो क्या मस्त कयामत लग रही थी और अब मैंने देखा कि Bhabhi बाहर आ रही hai तो main हड़बड़ा गया और जल्दीबाजी main दरवाजे से लगा वो स्टूल नीचे गिर गया उसकी बहुत तेज आवाज हुई थी

अब main डर गया कि आज मेरी यह चोरी पकड़ी गई और अगर Bhabhi ने मेरी इस हरकत को भैया को बता दिया तो मेरा क्या हाल होगा? Bhabhi वो आवाज़ सुनकर जल्दी से बाहर आई और उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या हुआ यह कैसी आवाज थी? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं, main डर गया मैंने सोचा कि शायद आज मेरी चोरी पकड़ी गई मुझे बहुत डर लग रहा था, लेकिन Bhabhi ने मुझसे कुछ नहीं कहा और वो मेरी तरफ मुस्कुराने लगी फिर उसके बाद main और Bhabhi कार से बाज़ार आ गए और Bhabhi ने कुछ जरूरी सामान खरीद लिया और उन्होंने मुझसे कहा कि चलो अब hum आगे चलते hai, मुझे और भी सामान लेना hai, मैंने कहा कि हाँ ठीक hai और मैंने अपनी कार को स्टार्ट कर दिया

hum आगे बढ़े कुछ  आगे आने के बाद Bhabhi ने कहा कि कार को साइड main कर लो, मुझे यहीं से सामान लेना hai फिर मैंने अपनी कार को उनके कहने पर तुरंत रोककर एक तरफ लगा दिया अब Bhabhi ने मुझसे कहा कि चलो और main Bhabhi के साथ चल पड़ा Bhabhi एक लेडिस दुकान main गई और main उसके बाहर ही रुककर खड़ा हो गया तब Bhabhi ने मुझसे कहा कि तुम भी अंदर चलो और main भी Bhabhi के साथ उस दुकान main चला गया तब मैंने देखा कि वहां पर से Bhabhi ने एक सेक्सी मेक्सी ली और कुछ हॉट अंडरगार्मेंट्स जिन्हे देखकर ही मेरा लंड खड़ा हो गया था और Bhabhi मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी और अब मेरी हालत तो बहुत खराब हो रही थी फिर hum दोनों वापस घर आ गए तभी भैया का फोन आ गया तब Bhabhi ने उनसे फोन पर कहा कि मुझे कल रात को घर पर अकेले main बहुत डर लग रहा था बताओ अब main क्या करूं? भैया ने कहा कि तुम चाहो तो रोहित को हमारे घर पर ही सुला लेना और बहुत देर तक बातें होने के बाद Bhabhi ने फोन बंद किया उसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हे आज से यहीं पर मेरे साथ सोना hai, क्योंकि मुझे रात को अकेले सोने main बहुत डर लगता hai दोस्तों मुझसे यह बात कहकर वो मुस्कुराने लगी, लेकिन main अभी तक उनकी मुस्कुराहट का वो राज नहीं समझ सका था, जिसको main बाद main धीरे धीरे बहुत अच्छी तरह से समझ चुका था दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे hai

भाभी के साथ सेक्स की कहानी

अब मैंने उनसे कहा कि हाँ ठीक hai Bhabhi और रात को hum दोनों ने खाना खाया और उसके बाद hum दोनों टीवी देखने लगे फिर करीब 11 बजे तक hum ने साथ main बैठकर टीवी देखी और उसके बाद मैंने उनसे कहा कि अब main सोने जा रहा हूँ तो Bhabhi ने टीवी को बंद कर दिया और main हॉल main ही सोफे पर सोने की कोशिश करने लगा, लेकिन दोस्तों सच कहूँ तो मुझे Bhabhi का वो मुस्कुराने का अंदाज़ सोच सोचकर नींद ही नहीं आ रही थी और रात के एक बजे के आसपास Bhabhi हॉल main आई तो main Bhabhi को देखता ही रह गया, क्योंकि Bhabhi ने उस समय वो नई वाली मेक्सी पहन रखी थी जो बहुत ही सेक्सी थी, उसmain से Bhabhi के बूब्स मुझे साफ साफ नज़र आ रहे थे अब Bhabhi ने मुझसे कहा कि मुझे डर लग रहा hai, तुम मेरे कमरे main मेरे पास सो जाओ फिर उनके मुहं से वो बात सुनकर मेरे मन main एक आनंद की लहर दौड़ने लगी और मैंने मन ही मन सोचा कि शायद भगवान को मुझ पर अब बहुत तरस आ गया hai,

इसलिए वो धीरे धीरे मेरे एक एक काम वो खुद आगे बढ़कर करवा रहा hai और अब main बहुत खुश होकर Bhabhi के साथ उनके कमरे main चला गया फिर main और Bhabhi दोनों ही उनके बेड पर लेट गए और बातें करने लगे फिर hum सो गये और करीब तीन बजे मैंने महसूस किया कि कोई हाथ hai जो मेरे लंड को छू रहा hai main तुरंत समझ गया और main सोने का नाटक करने लगा मेरा लंड तनकर कुतुब मीनार की तरह हो गया था और main मन ही मन इतना खुश हो गया था कि जैसे कि मुझे आज कुबेर का खजाना मिल गया था main देखना चाहता था कि Bhabhi अब इसके आगे क्या करती hai इसलिए main चुप रहा फिर मैंने महसूस किया कि Bhabhi एक हाथ से मेरे लंड को सहला रही hai और दूसरे हाथ से अपनी चूत को सहला रही hai main तो पागल हो गया था और मेरा मन तो कर रहा था कि Bhabhi को पकड़कर तुरंत ही उनकी Chudai कर दूँ मैंने सोचा कि Bhabhi ही आगे बढ़ रही hai तो main भी चुप ही रहूँ

फिर Bhabhi ने अब मेरे लंड से खेलना शुरू कर दिया और अब अपने एक हाथ से उन्होंने अपनी ही चूत को भी सहलाना शुरू कर दिया और उसके Bhabhi धीरे से मेरे पैरों की तरफ बढ़ी और फिर वो मेरा लंड को अपने मुहं main लेकर उसको सक करने लगी, जिसकी वजह से अब मुझसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था और इसलिए मैंने जागने का नाटक किया फिर मैंने उनसे पूछा कि Bhabhi यह आप क्या कर रही hai? यह सब अच्छी बात नहीं hai, लेकिन तभी Bhabhi ने मुझसे बिना कुछ बोले मुझे अपनी छाती से लगा लिया और कहा कि रोहित main तुम से कई बार अपने सपनों main Chudai करवा चुकी हूँ, लेकिन तुम मुझे आज सच main अच्छी तरह से रगड़कर चोद दो और मुझे अपना बना लो main कब से इस दिन का इंतजार कर रही थी

अब मैंने उनसे कहा कि Bhabhi यह सब बहुत ग़लत होगा और इसके बारे main अगर भैया को पता चल गया तो क्या होगा? हमारे सामने बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो जाएगी, तब hum क्या करेंगे? तो Bhabhi ने कहा कि वो सब नहीं होगा तुम्हे इतना आगे सोचने की कोई जरूरत नहीं hai, क्योंकि उन्हे हमारे इस काम के बारे main बिल्कुल भी पता नहीं चलेगा, तुम तो बस main तुमसे जैसा कहूँ वैसा करते चले जाओ दोस्तों आज तो मेरे मन की हर एक मुराद पूरी हो गई थी, क्योंकि वो खुद आगे होकर मुझसे अपनी Chudai के लिए कह रही थी, जिस काम को main भी बहुत समय से करना चाहता था और इसलिए main अब कहाँ पीछे रहने वाला था? मैंने तुरंत Bhabhi को अपनी बाहों main भर लिया और मैंने Bhabhi के होंठो से अपने होंठ लगा दिए और main उन्हे चूसने लगा उनके पूरे जिस्म पर हाथ घुमाने लगा

फिर थोड़ी ही देर के बाद मुझे महसूस होने लगा कि Bhabhi अब गरम होने लगी थी और उन्होंने मेरे लोवर को भी उतार दिया था उसके बाद बनियान को भी उतार फेंका, जिसकी वजह से अब main Bhabhi के सामने बिल्कुल नंगा था मैंने उनको कहा कि Bhabhi तुम मेरे कपड़े उतार रही हो और तुम खुद तो अब तक कपड़े पहने हो तब Bhabhi ने मुझसे कहा कि तुम्हे किसने रोका hai तुम खुद ही उतार दो? उनका यह जवाब सुनकर मैंने जल्दी से आगे बढ़कर सबसे पहले Bhabhi की मेक्सी को उसके बाद ब्रा को और फिर पेंटी को भी उतार दिया, जिसकी वजह से अब Bhabhi और main एकदम नंगे थे और main उनका वो गोरा सेक्सी जिस्म देखकर बिल्कुल पागल हो गया था और अब main किसी भूखे शेर की तरह Bhabhi के बूब्स को चूसने लगा और अपने एक हाथ से Bhabhi के निप्पल से खेल भी रहा था और उनका रस निचोड़ रहा था, जिसकी वजह से Bhabhi बहुत गरम हो रही थी और Bhabhi भी अपने एक हाथ से मेरे लंड को सहला रही थी फिर मैंने अपना एक हाथ Bhabhi की गरम चिकनी चूत पर रख दिया और main चूत को सहलाने लगा फिर मैंने महसूस किया कि Bhabhi की चूत अब तक बहुत गीली हो चुकी थी और उनके मुहं से उफूफ़्फफ्फ़ आह्ह्हह्ह की आवाज़े आ रही थी, जिसको सुनकर main और भी ज्यादा उत्तेजित हो रहा था

अब Bhabhi की साँसे गरम हो रही थी वो बिल्कुल मदहोश होने लगी थी फिर तभी Bhabhi ने मेरा लंड अपने मुहं main ले लिया और चूसना शुरू कर दिया, वाह क्या मस्त तरीके से वो मेरा लंड चूस रही थी, जिसकी वजह से भी मदहोश हो चुका था मैंने Bhabhi से कहा कि Bhabhi मुझे भी अब आपकी चूत का रस पीना hai फिर Bhabhi ने कहा कि हाँ ठीक hai चूस लो, वैसे भी यह आज से तुम्हारी ही hai और फिर hum दोनों 69 की पोज़िशन main आ गये main Bhabhi की चूत को चाट रहा था और वो मेरा लंड, जिसकी वजह से Bhabhi बड़ी ही मदहोश हो चुकी थी वो बहुत जोश main थी main अब Bhabhi की चूत main अपनी जीभ को डालकर अंदर बाहर कर रहा था, जिसकी वजह से भैया ऊफफफफफ्फ़ main मर गई और ज़ोर से महेश  मेरी जान आहहहहहहह main मर गई रे आईईईईईईईइ कह रही थी इन कामों के बीच मैंने महसूस किया कि Bhabhi दो बार झड़ चुकी थी

और main था कि अब तक झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था फिर Bhabhi ने मुझसे कहा कि रोहित अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता तुम यह लंड प्लीज जल्दी से मेरी चूत main डाल दो, नहीं तो main पागल हो जाउंगी और Bhabhi ने कहा कि प्लीज तुम तेल की बोतल ले आना, तुम्हारा लंड उनसे ज्यादा बड़ा hai, main इसका दर्द बर्दाश्त नहीं कर सकती और इसको पहले तेल लगाकर चिकना कर लो फिर मैंने उनसे पूछा कि क्यों Bhabhi भैया के लंड का क्या आकार hai? तो Bhabhi ने कहा कि उनका तो बस चार इंच का hai और उनका तुम्हारे लंड से पतला भी hai अब main उनके मुहं से यह बात सुनकर बहुत खुश खुश हो गया

और मैंने उनसे कहा कि तेल की ज़रूरत नहीं hai, main बहुत धीरे से ही करूंगा और Bhabhi ने कहा कि ठीक hai जैसा तुम ठीक समझो, कर लो, लेकिन प्लीज अब जल्दी करो main Bhabhi के ऊपर आ गया और Bhabhi के बूब्स को मसलने लगा और पीने लगा Bhabhi भी पागल हुई जा रही थी और आवाज़ निकाल रही थी अहहहहह मेरी जान जल्दी करो अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा main भी तैयार होकर Bhabhi की जाँघो के बीच आ गया और Bhabhi की चूत बिल्कुल साफ थी फिर मैंने Bhabhi की गांड के नीचे तकिया लगा, दिया जिससे कि Bhabhi की चूत ऊपर आ गई और मेरे लंड को Chudai का न्योता देने लगी, मैंने जैसे ही लंड को Bhabhi की चूत के मुहं पर सटाया तो Bhabhi बोल पड़ी कि जल्दी रोहित जल्दी करो

अब मैंने पहले लंड से Bhabhi की चूत को रगड़ा और फिर एक ही झटके main मैंने अपना पूरा लंड Bhabhi की चूत main डाल दिया Bhabhi चिल्ला पड़ी आह्ह्ह्हहहह ऊईईइईईई माँ मर गई, यह तुमने क्या किया, मुझे बहुत दर्द हो रहा hai, बाहर निकालो प्लीज फिर मैंने कहा कि Bhabhi बस दो मिनट main सब कुछ ठीक हो जाएगा आप थोड़ी शांति रखो और main Bhabhi को धीरे धीरे धक्के लगाने लगा, जिसकी वजह से अब Bhabhi को भी अब मज़ा आने लगा था और वो अपने मुहं से अहहहह उफुफ्फुफफुफ़्फुऊऊ की आवाज़े निकाल रही थी main Bhabhi को लगातार धक्के लगाता जा रहा था,

लेकिन कुछ देर बाद Bhabhi ने मुझसे कहा कि main अब झड़ने वाली हूँ मैंने कहा अभी मेरा इरादा नहीं hai, main Bhabhi को 15 मिनट तक लगातार धक्के देकर चोदता रहा और इस बीच Bhabhi दो बार झड़ चुकी थी और अब मेरा भी माल बाहर आने वाला था, इसलिए मैंने Bhabhi से कहा कि Bhabhi main भी अब झड़ने वाला हूँ फिर Bhabhi ने कहा कि तुम मेरी चूत के अंदर ही झड़ जाओ और main झड़ गया मैंने अपना पूरा वीर्य उनकी चूत की गहराईयों main डाल दिया main अब थक चुका था, इसलिए main उसी तरह Bhabhi के ऊपर लेटा रहा और करीब दस मिनट तक hum ऐसे ही पड़े रहे, Bhabhi मुझसे बिल्कुल चिपकी हुई थी और main Bhabhi के निप्पल से खेल रहा था फिर जब hum उठे तो टाइम देखा 4:45 हो चुके थे hum दोनों एक साथ ही साथ उठकर बाथरूम गये और Bhabhi मेरे सामने ही पेशाब करने लगी तब मैंने देखा कि उनकी चूत से पहले ढेर सारा वीर्य निकला उसके बाद मूत बाहर आ गया और Bhabhi मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी

फिर थोड़ी देर बाद Bhabhi ने मुझसे कहा कि रोहित तुम मेरी चूत को चाटो और main Bhabhi के कहने पर उनकी गीली चूत को चाटने लगा और वो मेरा लंड चूसने लगी फिर कुछ देर बाद hum दोनों एक बार फिर से Chudai के लिए तैयार हो गये और hum ने फिर से सेक्स के मज़े लिए, लेकिन इस बार main Bhabhi को पूरे 35 मिनट तक चोदता रहा और Bhabhi तीन बार झड़ चुकी थी अब main भी झड़ने ही वाला था और फिर मेरा भी वीर्य कुछ धक्कों के बाद निकल गया दोस्तों मेरे भैया दस दिनों के लिए बाहर गये थे, इसलिए पूरे सात दिनों तक मैंने और Bhabhi बहुत जमकर Chudai का मज़ा लेते रहे और फिर भैया भी आ गये जिसके बाद हमारी Chudai का वो सिलसिला अब बंद हो गया और उसके बाद मुझे और Bhabhi को कोई भी ऐसा मौका नहीं मिला जिसका hum फायदा उठाकर Chudai का मज़ा ले सके

दोस्तों आपको भाभी की बिल और मेरा साँप – Bhabhi Ke Sath Sex Ki Ek Jabardast Kahani पसंद आई तो इस कहानी को अपने ऐसे दोस्त के साथ शेयर जरुर करे जो Bhabhi Sex Ki Kahani पढने का शौंक रखता हो और दोस्तों इस hindi Sex Stories website पर हम डेली New Hindi Sex Story अपडेट करते रहते है |

 

bhabhi ki chudai ki kahani,
bhabhi ki chudai kahani,
bhabhi sex kahani,
bhabhi ko choda story,
devar bhabhi ki chudai ki kahani,
sexy bhabhi story,
bhabhi chudai story,

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *